You are currently viewing कोरोना वायरस पर निबंध 2023 – corona par nibandh in hindi
corona par nibandh in hindi

कोरोना वायरस पर निबंध 2023 – corona par nibandh in hindi

नमस्कार मित्रो, इस आर्टिकल में हमने कोरोना वायरस पर एक सुन्दर निबंध लिखा है। यह निबंध एकदम सरल और आसान भाषा में लिखा गया है। यह निबंध सभी तरह के छात्रों जैसे स्कूल, कॉलेज, या किसी भी कम्पटीशन एग्जाम के छात्रों को ध्यान में रखकर लिखा गया है। इस निबंध को पूरा पढ़ने के बाद आपको कही ओर corona par nibandh in hindi खोजने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

corona par nibandh in hindi (1500+ words) || corona par nibandh in hindi || covid-19 essay in hindi || कोरोना वायरस पर निबंध

कोरोना वायरस, जिसे COVID-19 भी कहा जाता है, एक संक्रमण है। जो  सार्स-कोव-2 वायरस से फैलता है, जिसने मानव जाति को बहुत बुरी तरह प्रभावित किया है । यह वायरस संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से फैलता है, जो हमारे स्वसन तंत्र को  संक्रमित करता है। लगभग सभी देशों ने COVID-19 के संक्रमण से निपटने के लिए कठोर उपाय अपनाए हैं, जिसमें आवश्यकताओं के लिए लॉकडाउन शामिल है।

कोरोना वायरस के कारण दुनिया भर में लाखों लोगों की मौत हो चुकी है और लाखों लोगों को संक्रमित होने का खतरा है। यह वायरस ज्यादातर बूढ़े  और अस्वस्थ लोगों के लिए खतरनाक होता है। ऐसे व्यक्ति जो पहले से ही किसी बीमारी से जूझ रहे हैं, जिनके फेफड़े कमजोर है, जो सिगरेट पीते हैं , जिन्हें डायबिटीज की बीमारी है, जिन्हें हार्ट की बीमारी है ,जिन्हें अस्थमा आदि है, ऐसे व्यक्तियों के लिए यह बीमारी जानलेवा भी साबित हो सकती है

कोरोना वायरस से बचाव:

 यदि परिवार के किसी सदस्य को कोरोना हो जाए तो उसे क्वॉरेंटाइन कर देना चाहिए यानी उसे सब से अलग कर देना चाहिए किसी ऐसे कमरे में जहां पर सबका आना जाना ना हो ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आने से बचना चाहिए या फिर जितना हो सके दूरी बनाकर रखनी चाहिए । कोरोना संक्रमित व्यक्ति के करीब जाने से या उसकी चीजों को छेड़ने से छूने से यह दूसरे स्वस्थ व्यक्तियों में भी आसानी से फैल सकता है। यदि आपको किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आना पड़े या उसकी देखभाल करनी पड़े तो कुछ सावधानियां जरूर बरतनी चाहिए। 

कोरोना से बचने के लिए सावधानियां:

  • कोरोना से बचने के लिए हमें बार बार साबुन से हाथ धोने चाहिए।
  • अपने मुंह को अच्छी तरह से ढक कर रखना चाहिए 
  • भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचना चाहिए । 
  • सामाजिक दूरी बनाकर रखनी चाहिए
  •  यदि संभव हो तो हाथों में  gloves पहन कर रखना चाहिए
  •  हर चीज को छूने से बचना चाहिए
  •  सैनिटाइजर का इस्तेमाल बार-बार करना चाहिए 
  • सब्जियों और फलों कर अच्छी तरह धोकर खाना चाहिए, 
  • बुखार ,खांसी ,जुकाम होने पर अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए

इस संकट के समय में, हम सभी को एक साथ मिलकर काम करना चाहिए ताकि हम इसे हराकर नॉर्मल जीवन की ओर वापस आ सकें। 

कोरोना के लक्षण:

 इसके लक्षणों में सामान्य जुखाम और बुखार शामिल होते हैं, लेकिन इससे ज्यादा गंभीर मामलों में यह फेफड़ों की समस्याओं,  सांस लेने में कठिनाई होना और थकान के साथ जुड़ सकता है।

इस महामारी के संबंध में सरकार ने अनेक उपाय अपनाए हैं,  इसके अलावा वैक्सीन के विकास के साथ सरकार वैक्सीनेशन अभियान भी चला रही है।

इस महामारी से बचाव के लिए हम सभी को सहयोग करना चाहिए। हमें घर से बाहर निकलने से बचना चाहिए और यदि हमें बाहर जाना आवश्यक है तो हमें सुरक्षित दूरी बनाए रखनी चाहिए। इस महामारी के संबंध में सभी को जागरूक रहना चाहिए और सरकार द्वारा कोरोना वायरस  के बारे में लोगों को जागरूक करना चाहिए

कोरोना वायरस वर्तमान समय में एक बहुत ही महत्वपूर्ण मुद्दा बन गया है। यह एक वायरस है जो संक्रमण से फैलता है और बहुत से लोगों को प्रभावित करता है। कोरोना वायरस के लक्षण फ्लू जैसे होते हैं, जिसमें जुकाम, खांसी, थकान, गले में दर्द और श्वसन की समस्या शामिल होती है। यह संक्रमण बार-बार वापस लौट कर आ जाता है जिसके कारण हमारी अर्थव्यवस्था को भारी चोट पहुंची है लोगों के ऑफिस बंद हो गए, काम धंधे खराब हो गए, कोरोना वायरस के कारण स्कूलों को भी बंद कर दिया गया। पिछले 100 सालों के इतिहास में ऐसी महामारी किसी ने नहीं देखी जिसमें पूरा इतिहास ही बदल कर रख दिया हजारों लाखों लोगों की जान गई, न जाने कितने लोग बेघर हो गए और बहुत सारे मासूम बच्चे अनाथ हो गए

इस समय कोरोना वायरस के प्रभाव से दुनिया भर में लोगों की जिंदगी बदल गई है। लॉकडाउन के कारण, लोग अपने घरों में ही रहना पड़ रहा है और अपने कामों को ऑनलाइन कर रहे हैं। बच्चे की स्कूल में जाकर घर से ही ऑनलाइन पढ़ाई करना सीख गए हैं। इस महामारी का प्रभाव दुनिया भर में दिखाई दे रहा है। इसने व्यापक रूप से लोगों की जिंदगी पर असर डाला है। व्यवसायों को बंद करना पड़ा, लोगों को घरों में बंद रखना पड़ा और इससे उनकी आर्थिक स्थिति पर भी असर हुआ है। 

कोरोना वायरस ने दुनिया में एक बड़ी स्वास्थ्य समस्या उत्पन्न की है और इसका समाधान ढूंढने के लिए वैज्ञानिकों और चिकित्सकों ने दिन रात एक कर रखे हैं ताकि वह इसका सही और सटीक इलाज ढूंढ सके कोरोना वायरस एक संक्रमण है। जो इंसानों में संक्रमण की बीमारी के रूप में फैल रहा है। यह वायरस प्रथम बार चीन के वुहान शहर से प्रसारित हुआ था। यह वायरस बड़ी तेज़ी से फैलता है और आमतौर पर एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक फैलता है।

 यह वायरस अत्यधिक खतरनाक हो सकता है क्योंकि यह फेफड़ों को खराब कर सकता है। जो अंततः मृत्यु तक पहुँचा सकता है। इस वायरस के कारण बहुत से चिकित्सकों नर्सों पुलिस वाले और न जाने कितने लोगों ने अपनी जान गवाई है।

इस वायरस से लड़ने के लिए, सरकारें भी कई उपाय अपना रही हैं। वे सुविधाओं को बंद कर रही हैं जो लोगों को संक्रमित कर सकते हैं, जैसे कि सिनेमाघर, रेस्तरां, मॉल Park entertainment zones, clubs, Disco आदि। इसके अलावा, लोगों को बाहर जाने की अनुमति ही नहीं हैं, सरकार द्वारा लोगों में राशन वितरित करने की सुविधा भी दी गई है। गरीब लोगों को खाना ,दवाइयां  मुफ्त दिए जा रही हैं।

कोरोना का असर:

कोरोना वायरस एक बहुत बड़ी चुनौती है जो आज पूरी दुनिया के सामने है। यह वायरस लोगों को संक्रमित करता है और अक्सर गंभीर बीमारी जैसे कि न्यूमोनिया या सांस लेने में परेशानी का कारण बनता है। इसके कारण इतनी ज्यादा संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं कि अस्पतालों में बिस्तरों की कमी पड़ गई है। स्वास्थ्य सेवाएं ठप पड़ रही है डॉक्टरों की कमी ,नर्सेज की कमी, स्टाफ की कमी ,दवाइयों की कमी, हर चीज की कमी हर तरफ नजर आ रही है, पूरे विश्व की अर्थव्यवस्था बुरी तरह चरमरा गई है। चारों तरफ , भुखमरी फैल रही है लोग घरों में लॉकडाउन मैं बंद होने को मजबूर है।

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए, हमें अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखना और इस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए अपना योगदान देना होगा। अपना और अपने परिवार का वैक्सीनेशन कराएं और सरकार द्वारा निर्धारित की गई गाइडलाइंस का पालन करें।

निष्कर्ष:

कोरोना एक बेहद घातक बीमारी है, जो जानवर से इंसानों में फैलता है यह वायरस बहुत तेजी से लोगों को संक्रमित करता है और वह इंसान के फेफड़ों को इतना खराब कर सकता है, कि व्यक्ति की मृत्यु भी हो सकती है। हमें इससे बचने के लिए सरकार द्वारा निर्देशित उपाय को अपनाना चाहिए सावधानी बरतनी चाहिए और साफ सफाई का ध्यान रखना चाहिए।

ALSO READS: समाचार पत्र पर निबंध

अंतिम शब्द- इस आर्टिकल में आपने corona par nibandh in hindi पढ़ा। आशा करते है, आपको ये निबंध पसंद आया होगा। इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे।

FAQS

1. क्या कोरोना वायरस से जान भी जा सकती है?

जी हां, करोना वायरस एक बेहद खतरनाक वायरस है। यह व्यक्ति के फेफड़ों को खराब  कर सकता है। जिससे उसकी जान भी जा सकती है।

2. कोरोना वायरस की उत्पत्ति कैसे और कहां से हुई?

 ऐसा माना जाता है कि कोरोना वायरस चमगादड़  नाम के जानवर से उत्पन्न हुआ जो कि चीन के वुहान शहर में पहली बार मिला। 

3. यदि किसी को कुरोना हो जाए तो उसे क्या करना चाहिए?

यदि किसी व्यक्ति को कोरोना  हो जाए तो उसे क्वॉरेंटाइन कर देना चाहिए उसका बिस्तर, खाना  पीना ,दवाइयां और रोजाना इस्तेमाल की चीजें बिल्कुल अलग कर देनी चाहिए ताकि वह दूसरे व्यक्तियों को संक्रमित ना कर सके और समय पर खाना और दवा जरूर लेनी चाहिए। 

4. कोरोना के कारण सरकार को लॉकडाउन क्यों करना पड़ा? 

कोरोना के कारण सरकार को लॉकडाउन करना पड़ा  ताकि लोग एक दूसरे से संक्रमित ना हो एक दूसरे से दूरी बनाए रखें क्योंकि भीड़भाड़ वाले इलाकों में यह ज्यादा फैलता है

Leave a Reply