You are currently viewing मोबाइल फोन पर निबंध – essay on mobile phone in hindi
essay on mobile phone in hindi

मोबाइल फोन पर निबंध – essay on mobile phone in hindi

नमस्कार मित्रो, इस आर्टिकल में हमने मोबाइल फ़ोन पर एक सुन्दर निबंध लिखा है। यह निबंध सभी स्कूल के छात्रों के साथ साथ सभी तरह की competition परीक्षा के लिए बेहद फायदेमंद साबित होगा। इस निबंध को पढ़ने के बाद आपको कही और essay on mobile phone in hindi खोजने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

मोबाइल फोन पर निबंध 1000+ शब्द || essay on mobile phone in hindi

मोबाइल फोन का परिचय

मोबाइल फोन मनुष्य के जीवन का एक अभिन्न अंग बन गया है। अब तो दिन का आरंभ और अंत दोनो ही  मोबाइल फोन से होता है । बड़ो के साथ साथ अब बच्चों को भी इसकी आदत लग गयी है। आजकल के माता पिता भी परेशानी से बचने के लिए अपने छोटे बच्चों के हाथ में फोन दे देते है, और फिर वही बच्चों की आदत बन जाती है। यह आदत बच्चों में दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। आज के समय में मोबाइल फोन हमारे जीवन का जरूरत बन चूका है। हम आज बिना मोबाइल के एक पल भी नहीं रह सकते है वर्तमान समय में मोबाइल फोन का उपयोगकर्ता दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे है। आज-कल मर्केट में कई प्रकार के नए नए मोबाइल फोन आ गये है, जिसमे तरह तरह के फीचर्स देखने को मिलता है। आज के आधुनिक युग में मोबाइल फोन सबकी जरूरत बन गया है। जो ज्यादातर हर काम में हमारी किसी न किसी तरह से मदद कर रहा है। इसलिए आज के समय में मोबाइल सबसे ज्यादा उपयोग में आने वाली चीज है, इसका उपयोग बच्चे से लेकर वयस्क तक हर कोई क्र रहा है मोबाइल फोन मनुष्य जीवन को बहुत ही सुगम और सरल बना दिया है। आधुनिक युग में मोबाइल फोन हमारे शरीर का एक हिस्सा बन चुका है। जो अधिकतर हर काम को करने में हमारी मदद कर रहा है, इसीलिए आज के युग में मोबाइल सबसे अधिक प्रयोग की जाने वाली वस्तु है। आज इसका उपयोग बच्चे  व्यस्क(बूढ़े) सभी कर रहे है। मोबाइल फोन हमारे जीवन को सरल तथा आसान बनाता जा रहा है।

हम लोग सही तरीके से इसका उपयोग करें तो यह हमें विज्ञान से मिला सबसे बड़ा और अच्छा आशीर्वाद माना जायेगा। लेकिन इसका उपयोग  जरूरत से ज्यादा करेगे तो यह हमारे लिए हानिकारक सावित होता है। मोबाइल के जरिए  हम इंटरनेट का भी लाभ उठा रहे है। मोबाइल फोन के माध्यम से हम उसमे तस्वीरें और वीडियो भी रिकॉर्ड भी कर सकते है देख भी सकते है।

मोबाइल क्या है?

मोबाइल फोन  एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जिसे लम्बी दूरी में वॉइस कॉल के लिए प्रयोग में लाया जाता है। इसे मोबाइल फोन के बजाय अन्य नाम जैसे की सेल फोन, सेलुलर फोन, सेल, वायरलेस फोन आदि नामो से पुकारा जाता है। वर्तमान समय में अब इसका नाम  स्मार्ट फोन हो गया है।  पहले मोबाइल फोन से केवल वॉइस कॉल ही किया जाता था।  आज के समय में ऐसा नहीं है स्मार्ट फोन से वॉइस कॉल के बजाय वीडियो कॉल, मैसेज कर सकते है, और फोटो ले सकते है, वीडियो बना भी सकते है और देख भी सकते हैै। मोबाइल मे अब इंटरनेट भी चला सकते है. और कभी भी कर सकते है।  

सबसे पहले वर्ष 1917 में रेडियो का अविष्कार हुआ,  मोबाइल रेडियो की सहायता से तार के जरिये कनेक्ट कर  एक दूसरे से बात किया करते थे।  प्रारंभ के समय इसका प्रयोग अधिकतर वाहनों में संपर्क के लिए किया जाता था।

पहला फोन

मोटोरोला पहली कंपनी थी जिसने सबसे पहले हैंडहेल्ड मोबाइल फोन को बनाया। 3 अप्रैल, 1973 को, मोटोरोला के एक शोधकर्ता मार्टिन कूपर ने हैंडहेल्ड सब्सक्राइबर उपकरणों से पहला मोबाइल टेलीफोन कॉल किया, उनके साथी बेल लैब्स के डॉ जोएल.एस.एंगेल को किया गया।

डॉ. कूपर द्वारा उपयोग किए जाने वाले प्रोटोटाइप हैंडहेल्ड फोन का वजन 1.1 किलोग्राम था और 23Û13Û4.5 सेंटीमीटर (9.1×5.1×1.8 इंच) मापा गया। प्रोटोटाइप ने केवल 30 मिनट के टॉक टाइम की पेशकश की और उसे दोबारा से चार्ज करने में 10 घंटे का समय लग गया।

जॉन एफ.मिशेल, मोटोरोला की प्रमुख पोर्टेबल संचार बनाने वाली और कूपर की बॉस ने मोबाइल टेलीफोन उपकरणों  को आगे बढ़ाने में एक अच्छे निर्णायक की भूमिका निभाई। क्योंकि मिशेल, मोटोरोला को संचार उत्पादों को बनाने  में सफल नही हो पाई । उनकी सोच ने आज के आधुनिक युग में फोन की नींव रखी।

ALSO READS : मेरा प्रिय खिलाडी पर निबंध

मोबाइल फ़ोन के लाभ और हानि

मोबाइल फोन के लाभ :

1) जोड़े रखना 

 हम अपने दोस्तों, रिश्तेदारों से किसी भी समय ऐप्स के जरिए से जुड़ सकते हैं। हम अपने मोबाइल फोन संचालित करके, किसी से भी वीडियो चैट कर सकते हैं। इसके अलावा मोबाइल हमें पूरी दुनिया के बारे में अपडेट भी देता रहता है।

2) ऑनलाइन  सुविधा

मोबाइल फोन ने रोजमर्रा के की गतिविधियों को हमारे जीवन को बहुत सरल बना दिया है।  मोबाइल फोन पर लाइव ट्रैफिक स्थिति के बारे में पता कर सकता है और कहीे पर भी समय पर पहुंचने के लिए उचित निर्णय ले सकता है। 

3)  मनोरंजन कभी भी, कहीं भी

मोबाइल तकनीकि के सुधार के साथ,  मनोरंजन की दुनिया में भी एक ही उपकरण के अधीन है। जब हम नियमित काम से थोड़ी देर का आराम लेना चाहते हैं, तब हम संगीत सुन सकते हैं, फिल्में देख सकते हैं, और हमारे पसंदीदा शो देख सकते हैं। 

4) सभी काम को मैनेज करना

  मोबाइल फोन का प्रयोग कई तरह के आधिकारिक कार्यो के लिए किया जाता है। शेड्यूल मीटिंग से लेकर, डॉक्यूमेंट भेजना और प्राप्त करना, प्रेजेंटेशन देना,  जॉब एप्लिकेशन आदि। मोबाइल फोन हर कामकरने वाले लोगों के लिए एक आवश्यक उपकरण बन गया हैं।

 5) मोबाइल बैंकिंग सुविधा

मोबाइलों का प्रयोग भुगतान करने के लिए  एक बटुए के रूप में किया जाता है। स्मार्टफोन में मोबाइल बैंकिंग का उपयोग करके दोस्तों, या अन्य किसी को  तुरंत धन का आदान प्रदान किया जा सकता है।  कोई भी अपने खाते के विवरण को बड़ी सरलता से देख सकता है और पहले के लेनदेन को भी देख सकता है। इससे समय भी बचता है और परेशानी भी नही होती है।

मोबाइल फोन से हानि :

1) समय की बरबादी करना।

2) धन की हानि।

3) दुर्घटना होना।

4) साइबर-क्राइम का डर लगना।

5) स्वास्थ पर गलत असर होना।

ALSO READS : डिजिटल इंडिया पर निबंध

मोबाइल ना होता तो क्या होता

मोबाइल साइंस का एक ऐसा आविष्कार है, जिसके बिना हम लोग एक मिनट भी नहीं रह पाते है अगर मोबाइल बंद हो जाता है तो बेचैनी होने लगती है।  मोबाइल के बिना सब काम अधूरा सा लगता है लेकिन क्या किसी ने ये सोचा है मोबाइल ना होता तो क्या होता?

मोबाइल का उपयोग  किसी रिश्तेदारों से फोन पर या वीडियो काँल पर बात करने के लिए करते है। मोबाइल की यह विशेषता है की इसे पर्स में या जेब में रखकर  ले जाया जा सकता है।  

 बच्चे भी मोबाइल पर ही अपनी  पढ़ाई कर रहे है सभी काम मोबाइल पर ही होने लगे है फिर वह बैंक के काम हो या आँलाइन खरीदारी  के सभी काम  मोबाइल पर ही किये जाने लगे है 

 मोबाइल के आने से लोगों का जीवन आसान हो गया है जिन कामों को करने के लिए दिन या घंटे निकल जाते थे अब वो काम तुरंत में हो जाते है। 

 मोबाइल ना होता तो  कभी इंटरनेट का इस्तेमाल कर नही पाते मोबाइल के बिना जीवन की कल्पना करना  असंभव है मोबाइल हमारे जीवन का एक ऐसा हिस्सा बन चुका है जिसको हम कभी अपने से दूर नहीं कर सकते है। 

निष्कर्ष

मोबाइल फोन अभिशाप और वरदान दोनों है यह हमारे ऊपर निर्भर करता है कि इसका उपयोग किस तरह से किया जाता है। इसलिए हमें मोबाइल फोन का उपयोग सीमित समय तक करना चाहिए जिससे कि हमारा कम से कम समय बर्बाद हो सके। 

मोबाइल फोन के आने से हमें काफी  हद तक आराम हो गया है। हमें मोबाइल फोन का इस्तेमाल अपनी आवश्यकता  के अनुसार ही करना चाहिए। मोबाइल पर समय की बर्बादी करने से बचना चाहिए।, मोबाइल पर गेम खेलने के जगह घर से बाहर मैदान में जाकर अपने पसंदीदा खेल खेलना चाहिए।

अंतिम शब्द- इस आर्टिकल में आपने essay on mobile phone in hindi पढ़ा। आशा करते है, आपको ये निबंध पसंद आया होगा। इसे अपने दोस्तों साथ शेयर करके उनकी भी मदद करे।

FAQ’S

1 मोबाइल फोन की शुरुआत कब हुई?

3 अप्रैल, 1973 को, मोटोरोला के एक शोधकर्ता मार्टिन कूपर ने हैंडहेल्ड सब्सक्राइबर उपकरणों से पहला मोबाइल टेलीफोन कॉल किया, उनके साथी बेल लैब्स के डॉ जोएल.एस.एंगेल को किया गया।

मोबाइल से क्या लाभ है और क्या हानि?

मोबाइल फोन के लाभ : 1) जोड़े रखना 2) ऑनलाइन  सुविधा 3)  मनोरंजन कभी भी, कहीं भी 4) सभी काम को मैनेज करना 5) मोबाइल बैंकिंग सुविधा
मोबाइल फोन से हानि :
1) समय की बरबादी करना।
2) धन की हानि।
3) दुर्घटना होना।
4) साइबर-क्राइम का डर लगना।
5) स्वास्थ पर गलत असर होना।

Leave a Reply