You are currently viewing मेरा प्रिय खिलाडी पर निबंध | my favourite player essay in hindi
my favourite player essay in hindi

मेरा प्रिय खिलाडी पर निबंध | my favourite player essay in hindi

my favourite player essay in hindi– मित्रो इस आर्टिकल में मैंने मेरे प्रिय खिलाडी पर निबंध हिंदी भाषा में बहुत सरल भाषा में लिखा है। ये निबंध सभी छात्रों के लिए मददगार साबित होगा। मेरा प्रिय खिलाडी महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली है, इसलिए इस निबंध में मैंने मेहन्द्र सिंह धोनी और विराट कोहली पर बहुत सुन्दर निबंध सरल भाषा में लिखा है।

\"my
my favourite player essay in hindi

My Favourite player essay in Hindi | मेरा प्रिय खिलाडी पर निबंध | essay on mahendra singh dhoni | essay on virat kohli

My Favourite player essay in Hindi: \’\’mahendra singh dhoni\’\’

भारत में कई महान क्रिकेट खिलाड़ियों ने भारतीय क्रिकेट को बुलंदियों पर पहुंचाया। महेंद्र सिंह धोनी उन्ही महान खिलाड़ियों में से एक है, जिन्होंने क्रिकेट जगत में विशेषकर कप्तान के रूप में वो मुकाम पाया है। जो किसी खिलाडी का सपना होता है। धोनी का जीवन व् खेल के प्रति उनकी सच्ची निष्ठां आज देश के युवाओं के लिए प्रेरणादायक है।

मेरा प्रिय खिलाडी का नाम महेंद्र सिंह धोनी है। उन्हें एम्.एस. धोनी के नाम से जाना जाता है। बहुत सारे लोग उन्हें प्यार से माहि भी बुलाते है। महेंद्र सिंह धोनी का जन्म 7 जुलाई 1981 को रांची झारखण्ड में हुआ था। वे मूलतः उत्तराखंड के अल्मोड़ा से सम्बन्ध रखते थे। उनके पिता का नाम पान सिंह धोनी और माता का नाम देवकी देवी है। धोनी के बड़े भाई का नाम नरेंद्र सिंह धोनी तथा बहन का नाम जयंती है। धोनी की पत्नी का नाम साक्षी है, जिनसे उनका प्रेम विवाह हुआ है। धोनी एक मध्यमवर्गीय परिवार से है। महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी प्रारभिक शिक्षा रोधी के जबाहर विधा मंदिर से पूरी की थी। प्रारम्भ में धोनी की बैडमिंटन और फूटबाल में अधिक रूचि थी। वह अपने स्कूल की फूटबाल टीम के अच्छे गोलकीपर भी थे। धोनी के फूटबाल कोच दिग्विजय सिंह ने क्रिकेट खेलने के लिए उन्हें प्रेरित किया। इन्होने ही धोनी को स्थानीय क्रिकेट क्लब के लिए भेजा था। इस दौरान धोनी के विकेट कीपिंग के कौसल ने सभी को काफी प्रभावित किया और कंमांडो क्रिकेट क्लब में नियमित विकेट कीपर बने। महेंद्र सिंह धोनी एक सफल बल्लेबाज, विकेट कीपर और एक कुशल कप्तान है।

महेन्दर सिंह धोनी ने अपने शुरुआती दिनों में TC की नौकरी भी की थी, लेकिन बचपन से ही उनको खेलो के प्रति लगाव की वजह से उन्हें अन्तर्राष्ट्रीय क्रिक्रेटर बनने में अधिक समय नहीं लगा। खेलो में अव्वल होने के साथ साथ धोनी एक प्रतिशाली छात्र भी थे। यही कारण था की सब उन्हें बहुत पसंद करते थे। महेंद्र सिंह धोनी ने 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ क्रिकेट टीम में अपना पहला कदम रखा। महेंद्र सिंह धोनी भारत के सबसे सफल कप्तानों में से एक है। जबसे वे भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान बने थे, तबसे टीम का प्रदर्शन बेहतर होने लगा था। उनकी वजह से भारत ने विश्वकप से लेकर चैम्पियन ट्रॉफी और 20-20 विश्वकप जैसे कई खिताव अपने नाम किये है। उन्हें राजीव गाँधी खेलरत्न पुरुस्कार, पदमभूषन, पद्मश्री जैसे कई पुरुस्कारो से सम्मानित किया गया है।

महेंद्र सिंह धोनी अपनी बेहतरीन कप्तानी और बेदाग छवि के लिए सबके चहेते खिलाडी है। आजकल सभी युवा महेंद्र सिंह धोनी जैसा बनने चाहते है।

ALSO READ: Essay on save water ,

ALSO READ:  आदर्श विद्यार्थी पर निबंध

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में प्रदर्शन:

धोनी को भारतीय टीम की ओर से पहला अन्तर्राष्ट्रीय वन डे मैच खेलने का अवसर वर्ष 2004 में मिला।इन्होने अपना पहला odi मैच बांग्लादेश की टीम के विरुद्ध खेला था। यघपि पहले मैच में इनका प्रदर्शन निराशजनक रहा। धोनी के ख़राब प्रदर्शन के बावजूद पाकिस्तान के खेले जाने वाले आगामी मैच में इन्होने फिर से अवसर दिया गया। धोनी ने चयनकर्ताओं के विशवास को जीतते हुए अद्भुत प्रदर्शन किया। इस मैच में उन्होंने कुल 148 रन बनाएं। इसके साथ ही ये पहले ऐसे भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज भी बन गए, जिन्होंने इतने रन बनाएं हो। वह वर्ष 2007 में विश्वकप क्रिकेट टूर्नामेंट का भी हिस्सा रहे, यघपि यह टूर्नामेंट भारत के लिए सदमे से कम नहीं था। लेकिन यही वह समय था जब धोनी को भारतीय टीम का कप्तान बनाया गया।

निष्कर्ष: (My Favourite player essay in Hindi: \’\’mahendra singh dhoni\’\’)

महेंद्र सिंह धोनी भारत देश के महान इंसानो में से एक है, जिन्होंने भारत का नाम ऊंचा किया। धोनी एक आम परिवार से होने के बावजूद इतना बड़ा मुकाम हासिल किया। धोनी ने इस मुकाम को पाने के लिए बहुत सारी परेशानी का सामना करना किया था। आजकल सभी युवा महेंद्र सिंह धोनी जैसा बनने चाहते है।

ALSO READ:  Mathrubhumi Essay in Hindi (1000+ Words)

10 lines on My favorite player ms dhoni essay in hindi

  1. महेन्दर सिंह धोनी ने अपने शुरुआती दिनों में TC की नौकरी भी की थी।
  2. उन्हें बचपन से ही उनको खेलो के प्रति लगाव की वजह से उन्हें अन्तर्राष्ट्रीय क्रिक्रेटर बनने में अधिक समय नहीं लगा।
  3. खेलो में अव्वल होने के साथ साथ धोनी एक प्रतिशाली छात्र भी थे।
  4. महेंद्र सिंह धोनी ने 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ क्रिकेट टीम में अपना पहला कदम रखा।
  5. महेंद्र सिंह धोनी भारत के सबसे सफल कप्तानों में से एक है।
  6. जबसे वे भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान बने थे, तबसे टीम का प्रदर्शन बेहतर होने लगा था।
  7. उनकी वजह से भारत ने विश्वकप से लेकर चैम्पियन ट्रॉफी और 20-20 विश्वकप जैसे कई खिताव अपने नाम किये है।
  8. उन्हें राजीव गाँधी खेलरत्न पुरुस्कार, पदमभूषन, पद्मश्री जैसे कई पुरुस्कारो से सम्मानित किया गया है।
  9. धोनी को भारतीय टीम की ओर से पहला अन्तर्राष्ट्रीय वन डे मैच खेलने का अवसर वर्ष 2004 में मिला।
  10. धोनी के फूटबाल कोच दिग्विजय सिंह ने क्रिकेट खेलने के लिए उन्हें प्रेरित किया।

My Favourite player essay in Hindi: \’\’virat kohli\’\’

short essay on my favorite player virat kohli in hindi

मेरा प्रिय खिलाडी विराट कोहली है। भारतीय क्रिकेट टीम के वह एक दिग्गज खिलाडी है। विराट कोहली को भारतीय टीम का बेक बोन कहा जाता है, क्योकि वह दाये हाथ से खेलने वाले अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेटर और सबसे प्रतिभाशाली खिलाडी में से एक है। वर्तमान में विराट कोहली भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान होने के साथ साथ सेकड़ो युथ के स्टाइल आइकन भी है।

विराट कोहली बहुत ही धाकड़ बल्लेबान है। यह आक्रामक रवैया के साथ बैटिंग करते है। विराट कोहली विश्व के सर्वसिष्ठ बल्लेबाजों में से एक है। विराट कोहली वनडे और टेस्ट में शीर्ष स्थान पर बरक़रार है। वही T20 क्रिकेट में यह टॉप 10 में शामिल है। विराट कोहली युवाओं की बहुत पसंद है।

जब विराट कोहली केवल 18 वर्ष के ही थे तब उनके पिता का देहांत हो गया था। इस पारिवारिक त्रासदी के बावजूद भी वह अपने पिता के निधन के अगले ही दिन दिल्ली के लिए मैच खेले और उन्होंने मैच भी।

विराट कोहली अपने सीनियर खिलाडी का सम्मान करते है। जब विराट कोहली टीम में नए थे तब वह थोड़ा धीमा खेलते थे और रन बनाने में समय लेते थे। 2013 में विराट कोहली ने सेहवाग के 2009 में रिकॉर्ड को तोड़ते हुए किसी भारतीय द्वारा बनाया। जब तक विराट कोहली मैदान पर खड़े रहते है, इंडिया के जितने की संभावना बनी रहती है।

10 lines on My favorite player Virat kohli essay in hindi

  1. विराट कोहली बहुत ही धाकड़ बल्लेबान है।
  2. यह आक्रामक रवैया के साथ बैटिंग करते है।
  3. विराट कोहली विश्व के सर्वसिष्ठ बल्लेबाजों में से एक है।
  4. विराट कोहली वनडे और टेस्ट में शीर्ष स्थान पर बरक़रार है।
  5. वही T20 क्रिकेट में यह टॉप 10 में शामिल है।
  6. विराट कोहली युवाओं की बहुत पसंद है।
  7. विराट कोहली अपने सीनियर खिलाडी का सम्मान करते है।
  8. जब विराट कोहली टीम में नए थे तब वह थोड़ा धीमा खेलते थे और रन बनाने में समय लेते थे।
  9. 2013 में विराट कोहली ने सेहवाग के 2009 में रिकॉर्ड को तोड़ते हुए किसी भारतीय द्वारा बनाया।
  10. विराट कोहली महान खिलाड़ियों में से एक है।

निष्कर्ष:

विराट कोहली महान खिलाड़ियों में से एक है। इन्होने अपने देश भारत का नाम ऊंचा किया है। अपने पिता के देहांत के बाद भी इन्होने अपनी हिम्मत नहीं हारी और खेलने चले गए और वहाँ से जीतकर भी वापस आये। विराट कोहली एक स्टाइलिस्ट दाय हाथ के बल्लेबाज है जिन्होंने कई रिकॉर्ड तोड़े और बहुत सारे पुरुस्कार भी जीते।

अंतिम शब्द: इस आर्टिकल में मैंने(My Favourite player essay in Hindi) पर निबंध बहुत सरल भाषा में लिखा है। आशा करते है आपको ये निबंध पसंद आया होगा। इस निबंध को अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर करके उनकी मदद जरूर करे।

essay on ‘Berojgari’ 

10 line essay on Mera parivar in hindi

Volleyball essay in Hindi

Essay on Neem tree in Hindi

Pollution essay in hindi 10 lines

10 lines on my mother in Hindi

Leave a Reply